भारत शासन अधिनियम 1935 | Government of India Act 1935 | Best for UPSC

भारत के वर्तमान संविधान का प्रमुख स्रोत भारत शासन अधिनियम 1935 को कहा जा सकता है क्योंकि भारत शासन अधिनियम 1935 और वर्तमान भारतीय संविधान में काफी हद तक समानता देखी जा सकती है। 1919 के संवैधानिक सुधारों की समीक्षा करने के लिये सरकार ने 1927 में एक आयोग स्थापित किया जिसे साइमन आयोग कहते … Read more

शिक्षा के प्रकार | 5 Types of education in hindi | शिक्षा कितने प्रकार की होती है ?

Types of education : शिक्षा एक ऐसी सतत प्रक्रिया है जो व्यक्ति के विशिष्ट उपलब्धि की प्राप्ति में सहायक होती है। यह शिक्षा कई प्रकार से दी जा सकती है। घर-आंगन से प्रारंभ होने वाली शिक्षा विश्वविद्यालयी स्तर तक विभिन्न माध्यमों से होते हुए गुजरती है। शिक्षा मानव जीवन के सभी पहलुओं के विकास तक … Read more

भारत में तुर्कों की सफलता और राजपूतों की असफलता के कारण | Bharat me turkon ki vijay ke karan

भारत में तुर्कों की सफलता और राजपूतों की असफलता के कारण पर इतिहासकारों द्वारा अनेक सिद्धान्तों का प्रतिपादन किया गया है तथा विभिन्न स्पष्टीकरण दिए गए है।
अंग्रेज इतिहासकार एल्फिन्सटन का मानना है कि, “चूँकि मुहम्मद गोरी की सेना में सैनिकों की भर्ती भारत तथा आक्सस नदीं के बीच के क्षेत्र में रहने वाले समस्त लड़ाकू प्रान्तों से की गयी थी और जिसे सल्जूकियों तथा उत्तरी तातारियों की सेना से युद्ध करने का अनुभव था।

Ajatashatru | अजातशत्रु | अजातशत्रु का इतिहास (492 ई०पू०–460 ई०पू०)

बिम्बिसार के पश्चात् उसका पुत्र ‘कुणिक’ अजातशत्रु (Ajatashatru) मगध का शासक हुआ। वह अपने पिता के ही समान साम्राज्यवादी था। अजातशत्रु (लगभग 492-460 ईसा पूर्व) के शासनकाल में मगध साम्राज्यवाद का चर्मोत्कर्ष हुआ और वह राजनीतिक सत्ता के शीर्ष पर पहुँच गया। प्रो० रायचौधरी के शब्दों में, “उसका शासन काल हर्यक वंश का चर्मोत्कर्ष काल … Read more

Bimbisar | बिम्बिसार | बिम्बिसार की उपलब्धियां | Achievements of Bimbisara | बिंबिसार का इतिहास (545 ई.पू.-492 ई.पू.)

हर्यंक वंश के लोग नाग वंश की एक उपशाखा थे। जिसका संस्थापक बिम्बिसार (Bimbisar) था। इसे ही मगध साम्राज्य का वास्तविक संस्थापक कहा जाता था। डी.आर. भण्डारकर के अनुसार बिम्बिसार प्रारम्भ में लिच्छिवियों का सेनापति था। सुतनिपात में लिच्छिवियों के नगर, वैशाली को मगधमपुरम कहा गया है। जैन साहित्य में बिम्बिसार का नाम ‘श्रेणिक’ मिलता … Read more

Neolithic period | नवपाषाण काल | नवपाषाण कालीन संस्कृति | Navpashan kaal

नवपाषाण काल (Neolithic period) का मानव की भौतिक प्रगति के इतिहास में महत्त्वपूर्ण स्थान है। इस काल में कृषि एवं पशुपालन सर्वप्रथम प्रारम्भ हुए। वे मानव समाज जो आखेट एवं संचय की अर्थव्यवस्था से आगे नहीं बढ़ पाए, वे सभ्यता का विकास नहीं कर सके। कास्य काल की सभ्यताओं के उदय एवं विकास के लिए … Read more

Haryak vansh ka itihas | हर्यक वंश | बिम्बिसार | Haryanka dynasty | अजातशत्रु

हर्यक वंश (Haryak vansh) के पहले मगध का इतिहास बहुत स्पष्ट नहीं है। मगध का उल्लेख पहली बार अथर्ववेद में मिलता है। ऋग्वेद में यद्यपि मगध का उल्लेख नहीं मिलता, तथापि कीकट (किराट) नामक जाति और इसके शासक प्रमगंद का उल्लेख मिलता है। इसकी पहचान मगध से की गई है। मागध और व्रात्यों का उल्लेख … Read more

Magadh samrajya ka uday aur vikas | मगध साम्राज्य का उदय और विकास | हर्यंक वंश , शिशुनाग वंश , नंद वंश

बुद्ध के समकालीन और हर्यंक वंश के बिम्बिसार के नेतृत्व में मगध प्रमुखता से उभर कर आया। उन्होंने आक्रामकता और विजय की नीति अपनाई, जो अशोक के कलिंग युद्ध के साथ समाप्त हुई। Magadh samrajya ka uday aur vikas

Adjective questions | Best 25 Adjective questions for competitive exams | Adjective questions for SSC CGL

Adjective questions : Adjectives play very essential role in English language and language as well. That’s why a competitive candidate must have a good understanding of adjectives. We can acquire knowledge from anywhere but we can’t sure about our preparation until check our awareness. It is present here a few questions on adjective. This set … Read more

Meaning and definition of Education in hindi | शिक्षा का अर्थ | शिक्षा की परिभाषा | 15 best definitions of education

‘शिक्षा’ शब्द की उत्पत्ति संस्कृत भाषा के शिक्ष धातु में ‘अ’ प्रत्यय लगाने से हुई है। संस्कृत में शिक्ष शब्द का अर्थ सीखना और सीखाना है। अतएव सीखने-सीखने की क्रिया ही शिक्षा है का बोध शाब्दिक अर्थ कराता है।
Meaning and definition of education in hindi

x