पुरातत्व की 32 परिभाषाएं | पुरातत्व क्या है ? | What is archaeology ? | Definition of archaeology in Hindi & English | Puratatva ki best paribhasha

Definition of archaeology :

What is archaeology
What is archaeology

What is archaeology : 1. According to Grah. Clarc:  “Archaeology may be simply defined as a systematic study of antiquities as a means of reconstructing the past.”

 2. archaeology is the study of human activities through the recovery and analysis of material culture.

3. According to Larry j zimmerman: “archaeology is the scientific study of people of the past …………. their culture and their relationship with their environment.”

4. archaeology is the scientific study of past cultures and the way people lived based on the things they left behind.

5. archaeology is the study of clue in which planning and chances pay a vital role in excavation.

6. “The system of the study of antiquities & the wearing of earlier literary records of people from remains of buildings, burials, palaces, utencils or ornaments belonging to a period of which we have few or no written records.

……………………...—Archaeology of India

7. archaeology is a complement of history and hence wears closest relation to it.

……………….... Archaeology in India

8. Archacology is the study of past cultures through the material (physical) remains people left behind. These can range from small artifacts, such as arrowheads, to large buildings, such as pyramids. Anything that people created or modified is part of the archaeological record.

9. Archaeology helps us to appreciate and preserve our shared human heritage. It informs us about the past, helps us understand where we came from, and shows us how people lived, overcame challenges, and developed the societies we have today.

10. Archaeology is the science involving the study of human past through material remains.

पुरातत्व से संबंधित पोस्ट्स

● पुरातत्व किसे कहते हैं? तथा पुरातत्व का विज्ञान और मानविकी के विषयों से संबंध।

● पुरातत्व को परिभाषित कीजिए तथा उसका सामाजिक विज्ञानों से संबंध बताइए।

पुरातत्व की परिभाषाएं :- Puratatva ki paribhasha

11. क्रोफोर्ड के अनुसार:- ” पुरातत्व विज्ञान की वह शाखा है जिसमें अतीत के गर्भ में विलुप्त मानव संस्कृतियों का अध्ययन किया जाता है।”

12. पुरातत्व इतिहास के पुनर्निर्माण के निमित्त पुरावशेषों का वैज्ञानिक अध्ययन है।

13. गार्डन चाइल्ड के अनुसार:- भौतिक अवशेषों के माध्यम से मानव के क्रियाकलापों का अध्ययन ही पुरातत्व है।

14. लियोनार्ड कोटेरेल के मतानुसार:- मानव द्वारा छोड़े गए अवशेषों के माध्यम से ज्ञात उसकी कहानी ही पुरातत्व है।

15. पुरातत्व एक अध्ययन की विधा है जो पुरानी काल की पृथ्वी में गढ़ी सामग्रियों को उजागर करता है तथा उन्हीं के सहारे हमारा इतिहास मुखरित करता है।

16. पुरातत्व विज्ञान की शाखा है जिसके द्वारा पूरा अवशेषों का अध्ययन कर संस्कृति के क्रम का ज्ञान प्राप्त किया जाता है।

17. ग्राहम क्लार्क के अनुसार:- मानव के अतीत के पुनर्निर्माण के साधन के रूप में पूरा अवशेषों के क्रमबद्ध अध्ययन को पुरातत्व कहते हैं।

18. पुरातत्व वह ज्ञान का पक्ष है जो प्रागैतिहासिक और आज ऐतिहासिक काल के विषय में अध्ययन की सामग्री प्रदान करता है।

19. पुरातत्व पुरातन सामग्रियों का एक व्यवस्थित अध्ययन है।

20. पुरातत्व के माध्यम से हम प्राचीन काल की सभ्यताओं और संस्कृतियों का अध्ययन करते हैं।

संबंधित पोस्ट्स:- अवश्य देखें

‘विश्व की सभ्यताएं’ की पोस्ट्स

● पृथ्वी पर जीवन की उत्पत्ति कब हुई? भाग -1

● पृथ्वी पर जीव की उत्पत्ति व उसके क्रमिक विकास क्रम (भाग-2)

‘मध्यकालीन भारत’ से संबंधित पोस्ट्स

● मध्यकालीन भारतीय इतिहास जानने के स्रोत

● इस्लाम धर्म का इतिहास

● अलबरूनी कौन था? संक्षिप्त जानकारी

What is archaeology :

21. बी बी लाल के विचार अनुसार:- पुरातत्व विज्ञान की वह शाखा है जो अतीत की मानव संस्कृतियों को व्याख्यायित्त करती है।

22. पुरातत्व एक अध्ययन की शाखा है जिसमें हम अतीत की सामग्रियों जैसे भावना व शेष मंदिर मृदभांड मुद्राएं स्तंभ आदि का अध्ययन कर इतिहास बोध इतिहास प्रमाणन तथा इतिहास का पुनर्निर्माण करते हैं।

23. H. D. संकालिया :- पुरावशेषों का अध्ययन ही पुरातत्व है।

24. पुरातत्व पृथ्वी के नीचे दबी वस्तुओं का अध्ययन कर किसी संस्कृति या सभ्यता के विषय में तथ्य उजागर करता है।

25. पुरातत्व वह विज्ञान है जो पुरानी वस्तुओं का अध्ययन व विश्लेषण करके मानव संस्कृति के विकास क्रम को समझाने एवं उसकी व्याख्या करने का कार्य करता है।

26. Leonardo woolley के शब्दों में:-  पुरातत्व का लक्ष्य मानव सभ्यता के विकास को खोजना तथा नहीं प्रदर्शित करना है।

27. पुरातत्व एक संकेत क्रम का अध्ययन है जिसमें योजनाएं एवं परिस्थितियों उत्खनन में महत्वपूर्ण भूमिका प्रस्तुत करती है।

28. स्टुअर्ट पिग्गट के अनुसार :- पुरातत्व के अंतर्गत प्रधानता मानव कृत भौतिक अवशेषों और पुरानिधियों का अध्ययन अतीत के इतिहास को समझने के लिए किया जाता है । चाहे यह पाषाण कालीन पत्थर के उपकरण एवं औजार हो या मिट्टी के बर्तनों के टुकड़े हो या मानव निर्मित झोपड़ी के भागों अथवा वास्तु कला से संबंधित भव्य कलाकृतियां हों।

29. पुरातत्व प्रागैतिहासिक कालीन मानव की अध्ययन का एकमात्र आधार है।  प्रागैतिहासिक काल में अर्थात जिस समय लेखन विधा प्रचलित नहीं हो पाई थी उस समय मानव क्या करता था क्या खाता था कहां रहता था कैसे जीवन व्यतीत करता था कैसे शिकार करता था कैसे औजार बनाता था इत्यादि समस्याओं का समाधान एकमात्र पुरातत्व ही करता है।

30. साधारणतया पुरातत्व का मतलब यह है कि जिस तरीके से जिस माध्यम से अथवा जिस व्यक्ति से पृथ्वी के अंदर दबी हुई मानव सभ्यता के इतिहास को वर्णित किया जाता है उसे ही पुरातत्व की संज्ञा दी जाती है।

31. पुरातत्व अनेक विषयों की सहायता लेकर मानव सभ्यता जो पृथ्वी के अंदर विलुप्त हो गई है उसका ज्ञान कराता है।

32. पुरातत्व वह विज्ञान है अथवा विज्ञान की वह शाखा है जिसकी माध्यम से हम प्राचीन कालीन वस्तुओं का अध्ययन एवं विश्लेषण करके मानव के विकास क्रम का ज्ञान प्राप्त करते हैं।

Note:- इस पोस्ट में पुरातत्व की परिभाषाएं बताई गई है। इससे पहले की पोस्ट में पुरातत्व किसे कहते हैं तथा विज्ञान और मानविकी के विषयों से पुरातत्व का संबंध बताया गया है जिसका लिंक ऊपर दिया गया है आप उसे जरूर पढ़ें।

इसके आगे की पोस्ट में पुरातत्व क्या है विस्तार से समझाया जाएगा।

धन्यवाद🙏 
आकाश प्रजापति
(कृष्णा) 
ग्राम व पोस्ट किलाहनापुर, कुण्डा प्रतापगढ़
छात्र:  प्राचीन इतिहास कला संस्कृति व पुरातत्व विभाग, कलास्नातक द्वितीय वर्ष, इलाहाबाद केंद्रीय विश्वविद्यालय

Leave a Comment

x