हिन्दी से अंग्रेजी में अनुवाद के नियम | Rules of Translation : Hindi to english

 

आज हम इस पोस्ट के माध्यम से आपको हिंदी से अंग्रेजी के translation के शुरुआती तरीके व नियम बताएंगे। साथ ही हमारी वेबसाइट की English Grammar catagory के अंतर्गत अंग्रेजी व्याकरण (English Grammar) को एकदम शुरुआत से (बिल्कुल निम्न स्तर) से एकदम सरल भाषा में समझाएंगे। अगर आपको अंग्रेजी ग्रामर की बिल्कुल भी जानकारी नहीं है और आप अच्छी तरह से अंग्रेजी सीखना चाहते हैं तो आप हमारी website (Gs Center) के सभी लेख क्रमबद्ध तरीके से पढ़ें और सीखें।

हिंदी से अंग्रेजी अनुवाद के नियम : Rules of Translation Hindi to English –

अंग्रेजी व्याकरण (English Grammar) को आसानी से सीखने के लिए सर्वप्रथम हमें कुछ अनुवाद व तरीके सीख लेने चाहिए। अगर आप अनुवाद करना सीख गए तो ऐसा माना जाता है कि आप लगभग एक तिहाई अंग्रेजी सीख गए।

Translation (अनुवाद) सीखने से पहले कुछ महत्वपूर्ण शब्दावलियों की जानकारी होना आवश्यक है। तो आईये जानते हैं-

कुछ महत्वपूर्ण शब्दावलियाँ (Word-meanings)-

वह (पुल्लिंग/पुरुष) – He (ही)

वह (स्त्रीलिंग) – She (शी)

मैं – I (आई)

हम – We (वी)

तुम – You (यू)

वे – They (दे)

ये – These (दीज)

वे/वो – Those (दोज)

यह – This (दिस) , It (इट)

वह – That (दैट)

Note: उपरोक्त शब्द अधिकांशतः subject के रूप में प्रयोग किये जाते हैं। इनमें He , she , it , this , that एकवचन का भाव रखते हैं। तथा We , you , they , these , those आदि बहुवचन का भाव रखते हैं।

I कभी कभी एकवचन माना जाता है तथा कभी कभी बहुवचन माना जाता है। 

अनुवाद करने का तरीका : 

हिंदी से अंग्रेजी में अनुवाद (Translation) करने के लिए कुछ मूलभूत तरीकों व नियमों को ध्यान रखा जाता है। 

नीचे दिये गए steps पर चलकर हम आसानी से अनुवाद कर सकते हैं।

Steps:-

1. सबसे पहले हमें हिंदी के वाक्य में प्रयोग हुए सभी शब्दों के अंग्रेजी में meanings पता होना चाहिए।

2. किसी भी वाक्य का अनुवाद करने के लिए हमें उस वाक्य के Tense को समझना चाहिए कि वो Present tense में है या past tense में है अथवा वो Future tense में है।

3. Tense की पहचान करने के बाद हमें उस वाक्य के Subject (कर्ता) को पहचानना होगा।

4. अगर हम tense और subject (कर्ता) को पहचान लिए तो हम उस उस वाक्य में प्रयोग होने वाली सहायक क्रिया (Helping verb) को जान सकेंगे। 

5. अब हमें उस वाक्य में क्रिया (Verb) की पहचान करना होगा। 

ध्यान रहे कि जिस वाक्य में verb न हो तो परेशान होने की आवश्यकता नहीं है हमें इस step के आगे बढ़ जाना चाहिए।

6. Tense , subject और verb की पहचान के बाद हमें Object को पहचानना चाहिए। 

7. इन सभी की पहचान के बाद अगला कार्य हमें इनके शब्दों की english meaning को सही क्रम से रखना पड़ता है। यही अंग्रेजी के शब्दों को सही क्रम से रखना ही अनुवाद कहलाता है। 

Note: किसी भी साधारण व सकारात्मक वाक्य का क्रम निम्नलिखित है। इसी क्रम पर रख कर हम अनुवाद कर सकते हैं।

Subject + Helping verb + verb + Object.】

ध्यान दें: अगर किसी भी वाक्य में verb (क्रिया) न हो तो verb के स्थान पर कुछ न लिख कर आगे बढ़ जाएंगे। उदा० (i) देखें।

उदाहरण (Examples) : 

(i) वह लड़का है। 

He is boy.  

अब हम एक एक step को आसानी से समझने का प्रयास करते हैं। 

Tense की पहचान करना – 

किसी भी हिंदी वाक्य के tense को जानने के लिये हमें उस वाक्य के अंतिम शब्द को देखना चाहिए।

➣ अगर हिंदी वाक्य कर अंत में (है, हैं, हो, हूँ,) ये शब्द हैं तो वह वाक्य present tense में है। अथवा जिस वाक्य से किसी भी कार्य या स्थिति के वर्तमान में होने का बोध होता है वह present tense के अंतर्गत आता है। 

➣ अगर किसी वाक्य के अंत में (था, थी, थे) हो वह past tense का वाक्य कहलाता है। अथवा जिस वाक्य से किसी भी कार्य अथवा स्थिति के भूतकाल अर्थात पूर्व में होने का बोध हो वह past tense के अंतर्गत आता है।

➣ अगर किसी वाक्य के अंत मे (गा, गी, गे) लगा हो तो वह future tense के अंतर्गत आता है। 

Subject की पहचान करना : 

किसी भी हिंदी के वाक्य में किसी भी कार्य को (जो वाक्य में हो रहा है) करने वाला ही subject कहलाता है। 

साधारणतया यह वाक्य का सबसे पहला शब्द होता है। 

जैसे : वह एक गेंद है। इस वाक्य में ‘वह’ subject है। 

Helping verb का प्रयोग : 

किसी भी हिंदी के वाक्य का अंग्रेजी में अनुवाद करने के लिए सबसे महत्वपूर्ण है उसके साथ लगने वाली helping verb की जानकारी होना।

साधरणतया हम कह सकते हैं कि- एकवचन कर्ता (Singular subject) के साथ singular helping verb का तथा बहुवचन कर्ता (Plural subject) के साथ plural helping verb का प्रयोग करते हैं। 

साधारण वाक्यों में Is , am , are , was , were , will , shall , आदि का प्रयोग सहायक क्रिया के रूप में होता है। 

इसमें is , are तथा am present tense की सहायक क्रियाएं (Helping verbs) हैं। 

Is का प्रयोग – is का प्रयोग present tense में होता है। 

 is का प्रयोग He , she , it , this , that किसी एक नाम (Ram, shyam, radha , seeta आदि) अथवा किसी भी एकवचन कर्ता के साथ होता है। 

जैसे- वह एक खिलाड़ी है। 

He is a player. 

मोहन एक लड़का है।

Mohan is a boy. 

➣ उपरोक्त में वह और मोहन एकवचन कर्ता हैं अतः इनके साथ is का प्रयोग होगा।

Am का प्रयोग – Am present tense की सहायक क्रिया है अतः इसका प्रयोग present tense में होगा। 

Am का प्रयोग सिर्फ और सिर्फ मैं अर्थात (I) के साथ होता है। जैसे-

1. मैं एक अध्यापक हूँ। 

I am a teacher. 

Are का प्रयोग – are भी एक present tense की सहायक क्रिया है अतः इसका प्रयोग भी present tense में होता है। are का प्रयोग we , you , They , These , those , एक से अधिक नाम (Ram and shyam , Radha and seeta आदि) तथा बहुवचन कर्ता (Plural subject) के साथ होता है। जैसे–

1. वे कुत्ते हैं। 

Those are dogs. 

2. ये लड़कियां हैं। 

These are girls.

3. हम विद्यार्थी हैं।

We are students. 

(Was तथा were) past tense की सहायक क्रियाएं हैं। इनका प्रयोग निम्नवत् होता है। 

Was का प्रयोग – Was past tense की सहायक क्रिया है अतः was का प्रयोग past tense में होता है। He, she, it, this , that , एक नाम तथा किसी भी एकवचन कर्ता के साथ was का प्रयोग होता है।

I के साथ भी was का प्रयोग होता है। जैसे-

1. वह एक डॉक्टर था। 

He was a doctor.

2. मैं एक दुकानदार था। 

I was a shopkeeper.

3. वह एक पेड़ था। 

That was a tree. 

Were का प्रयोग– were past tense की सहायक क्रिया है अतः इसका प्रयोग भी past tense में होता है। were का प्रयोग we , you , They , These , those , एक से अधिक नाम (Ram and shyam , Radha and seeta आदि) तथा बहुवचन कर्ता (Plural subject) के साथ होता है। जैसे–

1. वे शरारती बच्चे थे।

They were naughty children. 

2. ये जूते थे।

These were shoes. 

(Will तथा shall) future tense की सहायक क्रियाएं हैं। इनका प्रयोग निम्नवत होता है–

Shall का प्रयोग– shall future tense की सहायक क्रिया है अतः Shall का प्रयोग future tense में होता है। सिर्फ I और we के साथ shall का प्रयोग होता है। जैसे–

1. मैं घर जाऊंगा। 

I shall go to home. 

2. हम क्रिकेट खेलेंगे।

We shall play cricket.

Will का प्रयोग– I और we को छोड़कर शेष सभी subjects के साथ will का प्रयोग होता है। जैसे-

1. तुम खाना खाओगे।

You will eat food.  

धन्यवाद🙏 
आकाश प्रजापति
(कृष्णा) 
ग्राम व पोस्ट किलहनापुर, कुण्डा प्रतापगढ़
छात्र:  प्राचीन इतिहास कला संस्कृति व पुरातत्व विभाग, कलास्नातक द्वितीय वर्ष, इलाहाबाद केंद्रीय विश्वविद्यालय

Next post : 

● Use of Is , Are , am (in hindi)

Tag:

Basic rules of translation , Anuvad ke niyam , hindi se english me translation ke niyam , हिंदी से अंग्रेजी में अनुवाद के नियम हिंदी से अंग्रेजी में अनुवाद कैसे करें हिंदी टू इंग्लिश ट्रांसलेशन इन हिंदी हिंदी वाक्य का अंग्रेजी में ट्रांसलेशन कैसे करें हिंदी से अंग्रेजी में ट्रांसलेशन के नियम। 

Important links for Study material : 


3 thoughts on “हिन्दी से अंग्रेजी में अनुवाद के नियम | Rules of Translation : Hindi to english”

  1. Sir kya aap online class keratey hai sir mobile no dejeyhttps://www.gs4uppsc.com/2021/06/rules-of-translation-hindi-to-english.html

    Reply

Leave a Comment

x