दांत दर्द की समस्या | Toothache : Causes , types , pre-Cautions , home remedies | दांत दर्द के 10 घरेलू उपचार

आज के समय में दांत दर्द की समस्या (Toothache) एक आम समस्या बनती जा रही है। इसके कारण लोगों को असहनीय दर्द का सामना करना पड़ता है। दांत दर्द के कारण लोगों को बार बार डॉक्टर के पास जाना पड़ता है। ऐसे में सभी यह चाहते हैं कि कोई आसान घरेलू उपचार अपनाकर दर्द को दूर कर लें।

दांत दर्द की समस्या : Toothache

Toothache
Toothache

यहां हम दांत दर्द से संबंधित लगभग सभी पहलुओं पर चर्चा करेंगे जैसे- दांत दर्द क्या है , दांत दर्द के कारण , दांत दर्द के प्रकार , दांत दर्द से बचने के उपाय तथा दांत दर्द के घरेलू उपचार आदि।

दांत का दर्द हर कोई अनुमान भी नहीं कर सकता। जिसने दांत दर्द का कष्ट पाया है सिर्फ वही इसके दर्द को समझ सकता है। ऐसे में दांत के दर्द को प्रारम्भिक स्तर पर गंभीरता से न लिया गया तो यह दर्द मसूड़ो तक पहुंच कर अत्यंत कष्टकारी साबित हो सकता है।

दांत दर्द क्या है ? ( What is toothache in hindi )

दांतों में दर्द एक गंभीर समस्या है। दांत दर्द होने पर कभी कभी रोगी का मुंह फूल आता है तथा कभी कभी जब दर्द बहुत तेज़ रहता है तो यह दर्द सिर , कान और गले तक अनुभव होने लगता है।

आयुर्वेद के अनुसार दांत का दर्द एक वात दोष के कारण होने वाला दर्द है। इसे हम कुछ सावधानियां , खान पान में सुधार व कुछ घरेलू उपचारों के माध्यम से ठीक कर सकते हैं।

दांत दर्द कितने प्रकार के होते हैं : Types of Toothache in hindi

वैसे तो दांत दर्द कई प्रकार के होते हैं। किंतु उनमें से कुछ दर्द सामान्य होते हैं। दांत दर्द (Tooth pain) के प्रकारों को हम उसके कारणों के परिपेक्ष्य में समझ सकते हैं। आईये जानते हैं दांत दर्द के मुख्य कारण-

दांत दर्द के कारण | (toothache Causes in hindi) :

वैसे तो दांतो में दर्द होने के कई कारण हो सकते हैं। दांत दर्द (Toothache) के कुछ कारण निम्न हैं–

1. जब व्यक्ति दांतो की देखभाल अच्छे से नहीं करता है तो दांतो में कीड़े लग जाते हैं। दूसरे शब्दों में दांतो में कैविटी हो जाती है जो बाद में दांतो के दर्द का कारण बनता है।

2. अधिक मीठे पदार्थ खाने से दांतों में दर्द हो सकता है। क्योंकि मीठा खाने के बाद यदि दांतो को अच्छी तरह साफ नहीं किया गया तो मीठे के कुछ टुकड़े दांतो में फंसे रह जाते हैं। ये टुकड़े अगर अधिक समय तक दांत में फंसे रहे तो अम्ल बना देते हैं। यही अम्ल (Acid) धीरे-धीरे हमारे दांतो में कैविटी का रूप ले लेते हैं।

3. आमतौर पर ज्यादा ठंडा गरम खाने से हमारे दांत कमजोर हो जाते हैं लिहाजा उनमें दर्द होने लगता है।

4. हमारे दांतो की गलत ढंग से सफाई करने पर उसकी जड़ें कमजोर हो जाती हैं जिससे दांतो में दर्द हो सकता है।

5. दांत दर्द (tooth pain) का एक कारण कैल्शियम की कमी भी होता है।

6. दांतो के असमय टूटने से भी हमें दांत दर्द का सामना करना पड़ता है।

7. बैक्टीरियल इन्फेक्शन के कारण भी दांत की समस्या बन जाती है। जिससे दर्द उत्पन्न हो जाता है।

8. मसूड़ों से खून आना और दांतों की समस्या विटामिन K की कमी के कुछ अन्य सामान्य लक्षण हैं। विटामिन K2 ओस्टियोकैल्सिन नामक प्रोटीन के एक्टिवेशन के लिए जिम्मेदार है। ये प्रोटीन कैल्शियम और मिनरल्स को दांतों तक पहुंचाता है। इसकी कमी से भी हमें मसूड़ों और दांतों के दर्द का सामना करना पड़ता है।

अक्ल दाढ़ हो सकता है दांत दर्द का कारण | अक्ल दाढ़ क्या है ? What is wisdom tooth

मनुष्यों के 17 से 20 वर्ष की उम्र में एक विशेष प्रकार का दांत निकलता है जिसे अक्ल दाढ़ (Wisdom tooth) कहते हैं। चूंकि यह सबसे बाद में निकलने वाला दांत है इसलिए इसके निकलते समय मसूड़ो में जगह का अभाव होता है। समुचित जगह न मिल पाने के कारण इस दांत को निकालने में कठिनाइयों और दर्द का सामना करना पड़ता है।

यह दर्द बहुत सामान्य प्रकार का दर्द है जिसे हर व्यक्ति को झेलना पड़ता है। यह दर्द एक से तीन दिन तक भी रह सकता है। ऐसे में व्यक्ति को खाने , चबाने , पीने , बोलने आदि में कठिनाई और असहनीय दर्द होता है।

बच्चों के दांतों में कीड़ा लगने के कारण : (Causes of children cavities in hindi)

हम जानते हैं कि जब बच्‍चे के मुंह के अंदर दांतो में बैक्‍टीरिया बनने लगता है, तब दांत में कीड़ा लगना शुरू हो सकता है।

वस्तुतः बोतल से दूध पीते-पीते सो जाने पर बच्‍चे के मुंह में मीठा (दूध) चिपका रह जाता है। कई घंटों तक इसके दांतों पर रहने पर बैक्‍टीरिया पनपता है जिससे दांतों में कीड़ा लग जाता है।

वहीं अगर बच्‍चा लंबे समय से जमीन पर गिरे हुए या गंदे सिपी कप या बोतल को मुंह में डाल लेता है तो इससे भी बैक्‍टीरिया पैदा होता है। किसी मीठी चीज को ज्‍यादा देर तक चबाने या मुंह में रखने पर भी दांत में कीड़ा लग सकता है। इसके अलावा रोज दांतों को ब्रश ना करने पर या ओरल हेल्‍थ पर ध्‍यान ना देने पर भी दांतों में कीड़ा लग सकता है।

दांत दर्द से बचने के उपाय :

यदि आप अपने दांतों को लंबे समय तक स्वस्थ रखना चाहते हैं तो आपको कुछ आसान बचाव के उपाय करने होंगे। ये उपाय निम्न हैं–

1. दांत दर्द से बचने के लिए हमें दांतो की साफ सफाई रखनी चाहिए। हमें सुबह शाम दो बार ब्रश करना चाहिए।

2. जब भी हम कुछ ऐसा खाएं जो दांतो में फंसा रह सकता है तब हमें खाने के तुरंत बाद अपने दांतों को ब्रश से साफ कर लेना चाहिए। ऐसा करने से हम दांत में होने वाले बैटीरियल इंफेक्शन से बच सकते हैं तथा हमारे दांत कीड़े लगने से बच जाएंगे।

3. बच्चों को कुछ भी खिलाने या पिलाने के बाद उन्हें पानी जरूर पिला देना चाहिए।

4. दांतो के दर्द से बचने के लिए हमें अपने शरीर में कैल्शियम की कमी नहीं होने देना चाहिए। इसके लिए हमें अपने खान पान पर भी ध्यान देना चाहिए।

5. कैल्शियम के अलावा हमें अपने शरीर में विटामिन K की आपूर्ति पूरी करने वाले पदार्थों का सेवन करते रहना चाहिए।

6. हमें जल्दी जल्दी ज्यादा ठंडा गरम नहीं खाना चाहिए इससे हमारे दांत कमजोर हो जाते हैं। कुछ भी ठंडा गरम एक के बाद एक खाने के लिए हमें थोड़े समय का अंतराल देना चाहिए।

7. हमें बाजार में उपलब्ध पूर्ण रूप से कैमिकल (Chemical) से बने टूथपेस्ट (Toothpaste) का इस्तेमाल करने से बचना चाहिए तथा अच्छे प्रकार के Toothpaste (मंजन) का इस्तेमाल करना चाहिए। इसके लिए आप दांत के डॉक्टर (Dentist) से सलाह ले सकते हैं।

इस प्रकार हम इन उपरोक्त बचावों को अपनाकर अपने दांतों को स्वस्थ रख सकते हैं और दांत दर्द से बच सकते हैं।

दांत दर्द के घरेलू उपाय | दांत दर्द के घरेलू उपाय इन हिंदी :

अगले लेख में देखें :

धन्यवाद🙏 
आकाश प्रजापति
(कृष्णा) 
ग्राम व पोस्ट किलहनापुर, कुण्डा प्रतापगढ़
छात्र: इलाहाबाद केंद्रीय विश्वविद्यालय

Tag:

दांत दर्द के घरेलू उपचार , दांत दर्द की समस्या , दांत का दर्द , दांत दर्द के कारण , दांत दर्द क्यों होता है , दांत के दर्द की समस्या , दांत में दर्द होता है क्या करें , दांतो में दर्द क्यों होता है , दांत में कीड़े क्यों लगते हैं , दांत दर्द से बचने के उपाय , Toothache,

Leave a Comment

x