UPSC Topper 2020 : अनिल बसाक | Anil Basak AIR 45 | फेरी लगाने वाले का बेटा बना आई०ए०एस० | UPSC Topper 2020 Rank 45

Upsc topper 2020 : उच्च और मध्यमवर्गीय व्यक्ति तो आईएस (IAS) बनते ही है लेकिन आनंद और जोश तभी आता है जब एक गरीब का बेटा आईएस बनता है। ऐसा ही एक उदाहरण प्रस्तुत किया है बिहार की पृष्ठभूमि से आने वाले अनिल बसाक (Anil Badal) ने। जिनके पिता बेटे की पढ़ाई के लिए गांव गांव जा कर फेरी लगाते हुए न केवल कपड़े बेंचे बल्कि अन्य छोटे छोटे काम भी किये जिससे थोड़ा भी पैसा मिल सकता था।

UPSC CSE 2020 Rank 45 : IAS Anil basak

कहते हैं सफलता पैसों की मोहताज नहीं होती उसे चाहिए तो सिर्फ योग्यता। और योग्यता तभी आती है जब व्यक्ति में लगन और उत्साह हो।

गरीब परिवार से आने वाले अनिल बसाक ने न केवल UPSC जैसी प्रतिष्ठित परीक्षा में 45वीं रैंक लाकर अपने पिता का मान बढ़ाया और गांव व जिले का नाम रोशन किया बल्कि वे उन सभी के लिए उदाहरण बन गए हैं जिनकी आर्थिक स्थिति अच्छी नहीं है और उनका सपना IAS OFFICER बनने का है।

कौन हैं अनिल बसाक ? Anil Basak UPSC 2020 AIR 45

अनिल बसाक बिहार राज्य के किसनगंज जिले के UPSC के सफल अभ्यर्थी हैं । उन्होंने साल 2020 की UPSC परीक्षा में 45वीं रैंक हासिल की है। इसके पहले भी इन्होंने 2 बार UPSC की परीक्षाएं दीं थीं जिनमें से एकबार इन्हें असफलता हाथ लगी तो दूसरी बार 2019 में 616 रैंक के साथ सफल हुए थे।

अनिल बसाक चार भाईयों में से दूसरे नंबर के हैं । इनके पिता विनोद बसाक गांव गांव जाकर कपड़े की फेरी करके घर चलाते थे और अपने पुत्रों को पढ़ाते थे। अनिल के पिताजी ने बताया कि उनकी स्थिति ऐसी नहीं थी कि वे अपने लड़कों को अच्छी शिक्षा दे पाएं फलतः वे लंबे समय तक कर्ज़ के बोझ तले दबे रहे किन्तु अनिल की पढ़ाई पर आंच न आने दी।

अनिल बसाक की पढ़ाई : Anil Basak Rank 45

अनिल बसाक (Anil Basak) पढ़ने में शुरुआत से ही बहुत होशियार और मेहनती छात्र थे। अपनी प्रारम्भिक पढ़ाई कक्षा 8 तक उन्होंने किशनगंज के ओरियंटल पब्लिक स्कूल से की। साल 2011 में उन्होंने 10वीं की पढ़ाई अररिया पब्लिक स्कूल से और अच्छे अंक प्राप्त किये। 2013 का सन् उनके इंटरमीडिएट उत्तीर्ण होने का साल था। एकेडमिक पढ़ाई में अनिल इतने तेज थे कि अगले ही साल 2014 में उन्हें आईआईटी दिल्ली (IIT Delhi) में सिविल इंजीनियरिंग में दाखिला मिल गया। 

2018 में इन्होंने अपनी इंजीनियरिंग की पढ़ाई पूरी की। बचपन से ही अभाव में जिंदगी बीतती रही अतः अनिल ने ठान लिया था कि कुछ बड़ा करना है अब जिससे माता पिता समेत परिवार के अन्य सदस्यों को संघर्षों से छुटकारा मिल सके और परिवार आराम से बची हुई जिंदगी बिता सके।

UPSC में किये गए प्रयास : UPSC Topper Anil Basak

● UPSC (IAS) Prelims booklist in hindi 

अनिल जब इंजीनियरिंग के आखरी वर्ष में थे तभी से उन्होंने अपनी तैयारी शुरू कर दी थी। साल 2018 में इन्होंने अपना UPSC का पहला attempt दिया किन्तु दुर्भाग्यवश इन्हें सफलता न मिली। अपनी प्रारंभिक सफलता से इन्हें निराशा तो हुई किन्तु उसे ये पीछे छोड़कर गलतियों को सुधारते हुए आगे बढ़े।

अगले ही वर्ष 2019 में जब इन्होंने अपना दूसरा प्रयास किया तो इन्हें सफलता मिली और ये 616वीं रैंक के साथ चयनित हुए। इन्हें IRS का पद मिला।

अपने इस पद से वे संतुष्ट नहीं हुए क्योंकि दिल के कोने में IAS बनने का जुनून शान्त होने का नाम नहीं ले रहा था फलतः 2020 में इन्होंने अपना तीसरा प्रयास किया और इस बार इन्हें 45वीं रैंक के साथ IAS बनने का मौका मिला।

UPSC 2020 में उच्च स्थान : UPSC IAS Topper 2020 Rank 45

साल 2020 की परीक्षा में अनिल बसाक ने 45वीं रैंक अर्जित की है। बता दें कि इसी परीक्षा में प्रथम स्थान बिहार के ही शुभम कुमार को मिला है और ओवर आल में दूसरा स्थान और बालिकाओं में पहला स्थान जागृति अवस्थी को मिला है। वहीं इसमें तीसरा स्थान अंकिता जैन को मिला है।

Related posts : अवश्य पढ़ें 👇

Tag :

UPSC Topper 2020 , IAS anil basak , UPSC 2020 AIR 45 Anil Basak , Anil Basak Upsc topper 2020 , Anil badal rank 45 , UPSC TOPPERS STRATEGY , Upsc topper , UPSC IAS TOPPER , IAS Topper 2020 Strategy , UPSC ANIL BASAK .

Leave a Comment

x