लीलावती | Lilavati | लीलावती कौन थी | leelavati kaun thi | लीलावती की कहानी | लीलावती का इतिहास

 गणितज्ञ लीलावती की कहानी : गणितज्ञ लीलावती (Lilavati) का नाम हममें से अधिकांश लोगों ने नहीं सुना है। उनके बारे में कहा जाता है कि वो पेड़ के पत्ते तक गिन लेती थी। आज के सैकड़ों वर्ष पूर्व गणित की प्रकाण्ड विदुषी लीलावती को आज हम भूल गए हैं। आज इस लेख में हम जानेंगे … Read more

Ashoka the great in hindi | अशोक महान की जीवनी | Biography of Ashoka the great in hindi | Ashoka | ashoka empire

  अशोक महान (Ashoka the great) को आज कौन नहीं जानता है किंतु अशोक के विषय में अधिकांश लोग ज्यादा कुछ नहीं जानते हैं ? अतः आज के इस लेख में अशोक के सम्पूर्ण जीवनवृत्त का वर्णन किया गया है। इसे आप पूरा पढ़कर अशोक के विषय में रोचक जानकारियां प्राप्त कर सकते हैं।  Contents … Read more

Chandragupta maurya | चंद्रगुप्त मौर्य का जीवन परिचय | Chandragupta maurya ka jivan parichay | Chandragupt maurya history in hindi FOR UPSC

हम आज आपको जिस महान सम्राट के बारे मे बताएंगे उसे भारत को सबसे पहले एकीकृत करने का गौरव प्राप्त है। उस महान सम्राट का नाम है “चन्द्रगुप्त मौर्य” (Chandragupta maurya). 

Sikandar ka jivan parichay in hindi | सिकंदर का जीवन परिचय | Biography of Alexander the great in hindi

इस वेबसाइट GS Center पर चलाई गई एक नई सीरीज (ऐतिहासिक जीवनचरित्र) के अंतर्गत इतिहास के कुछ विशेष लोगों के जीवन वृतांत अथवा जीवन परिचय की व्याख्या की जा रही है। इसमें अब तक महात्मा बुद्ध की जीवनी तथा महावीर स्वामी की जीवनी व्याख्यायित हो चुकी है। इसके अगले क्रम में आज हम इस पोस्ट … Read more

Mahavir swami ka jivan parichay | महावीर स्वामी का जीवन चरित्र | biography of Mahavir swami in hindi | best जानकारी

जैन धर्म के 24 वें तीर्थंकर तथा जैन धर्म के वास्तविक संस्थापक महावीर स्वामी का जन्म 540 ई०पू० में वैशाली (बिहार) के निकट कुण्डग्राम में हुआ था। उनके पिता सिद्धार्थ वज्जि संघ के 8 गणराज्यों में एक जान्त्रिक के राजा थे।
Mahavir swami ka jivan parichay

Gautama buddha : Biography of Gautama buddha in hindi (story and quotes) | महात्मा बुद्ध की जीवनी | महात्मा बुद्ध का जीवन परिचय

बौद्धधर्म के संस्थापक गौतम बुद्ध (Gautama buddha) थे। उनके पिता का नाम शुद्धोदन था जो कि कपिलवस्तु के शाक्यों के गणराजा थे। उनकी माता का नाम महामाया था, जो कोशल-राज्य की राजकुमारी थीं। गौतम का जन्म(Birth) 566 या 563 ई० पू० में कपिलवस्तु से लगभग 14 मील की दूरी पर स्थित लुंबिनी(रुक्मिनदेई) ग्राम के आम्रकुंज में हुआ था।

x